चित्रकार धनंजय कुमार द्वारा संचालित कलाकृति स्कूल ऑफ़ आर्ट्स एवं कलाकृति आर्ट फाउंडेशन के द्वारा डोरंडा कन्या पाठशाला प्रांगण में सामाजिक दायित्व एवं कौशल विकास योजना के तहत “पेंट यॉर फ्यूचर” कला छात्रवृति हेतू चयन परीक्षा का आयोजन किया गया।

प्रतिभा खोज परीक्षा में भाग लेती छात्राएँ

इस प्रतिभा खोज परीक्षा के अंर्तगत 21 छात्राओं का चयन किया गया,जिन्हें संस्था के द्वारा सभी चयनित छात्राओं को एक वर्ष तक चित्रकार धनंजय कुमार के द्वारा नि:शुल्क कला शिक्षा प्रदान की जाएगी,साथ ही साथ कला सामग्री भी उपलब्ध करने का प्रयास किया जाएगा।इसके अलावा भी अन्य संस्थानों से कुल 51 प्रतिभावान बच्चों का चयन कर उन्हें कला में पारंगत किया जाएगा।

संस्था द्वारा छात्रवृति के लिए चयनित छात्राएँ

चित्रकार धनंजय कुमार ने निर्धन एवं पिछड़े वर्ग के बच्चों में कला प्रतिभा को निखारने एवं उन्हें आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने हेतु “पेंट यॉर फ्यूचर” कला छात्रवृति योजना की शुरुआत 2001 में की थी। विगत वर्ष संस्था ने 2 लाख 62 हज़ार रूपये की छात्रवृति का वितरण 51 छात्रों में किया था।इस योजना के तहत कलाकृति स्कूल ऑफ़ आर्ट्स डोरंडा एवं हटिया केन्द्रों के द्वारा बच्चों एवं युवाओं को कला के क्षेत्र में आगे बढ़ने हेतू प्रेरित कर रहे हैं।


डोरंडा कन्या पाठशाला की छात्राओं ने इस परीक्षा में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया

यहाँ से शिक्षा प्राप्त कर छात्र-छात्राएं आज संस्था में कला शिक्षक के रूप में रोजगार भी प्राप्त कर रहे हैं। साथ ही साथ इनकी बनाई पेंटिंग्स को धनंजय कुमार द्वारा बनाई गयी ई-कॉमर्स पोर्टल www.sohraiart.com के माध्यम से बाज़ार भी उपलब्ध कराया जा रहा है | संस्था के इस प्रयास से बच्चे सामाजिक और आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बन रहें हैं ।

संस्था से शिक्षा प्राप्त कर बच्चे भारत के नामी कला महाविद्यालायों में अपनी कला प्रतिभा को नई ऊंचाई दे रहे हैं,बहुत से बच्चे अंतर्राष्ट्रीय, राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर आयोजित कई प्रतियोगिताओं में अपने हुनर का लोहा मनवा चुके हैं वहीं संस्था के कुछ बच्चे फिल्म और एनीमेशन,कला शिक्षक के रूप में अपना करियर बना रहें है।

धनंजय ने कला के माध्यम से ही समाज को सशक्त बनाने की एक अनूठी पहल की है जो कि काफी सराहनीय है।

-कामिनी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here